‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के इस कलाकार को आया पॅनिक अटैक इस वजह से यहा से आना पडा वापस।

एक कॉमेडी टिव्ही सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा‘ दर्शको मे काफी मशहुर है। इस सीरियल में दयाबेन से लेकर जेठालाल तक सभी कलाकारो को दर्शक काफी पसंद करते है। हर कोई इस सीरियल को देखता है। ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में जेठालाल और बबीता के बीच के बाते दर्शको को काफी पसंद आती है। बबीता का किरदार निभाने वाली कलाकार मुनमुन दत्ता दर्शको के बींच काफी मशहुर है। बबीता और जेठालाल को लेकर सोशल मीडियापर काफी बाते होती है। बबीता को यानी के मुनमुन दत्ता को घुमने का बेहद शौक है। कुछ दिन पहले ही ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की कलाकार बबीता याने के मुनमुन दत्ता अपने दोस्तो के साथ तांझानिया के किलिमंजारो पहाड पर ट्रेक के लिए गयी थी। पर वहा पर एसा कुछ हुआ के उन्हें आधे रास्ते से ही वापस आना पडा

बता दे की, कुछ दिन पहले ही मुनमुन दत्ता अपने दोस्तो के साथ पुर्व आफ्रिका में छुट्टीया मनाने गयी थी। आफ्रिका के इन छुट्टीयो में मुनमुन तांझानिया में ट्रेक करने वाली थी। इस ट्रेक के लिए मुनमुन काफी दिनो से तैयारीयो में लगी हुई थी। मुनमुन ने १२ हजार फुट का पहाड चढा पर इसी दौरान उनको पॅनिक अटॅक आया और आधे रास्ते मे से हि उनको वापस आना पडा। मुनमुन दत्ता माउंट किलिमंजारो पहाड पर चढाई के लिए गयी थी, पर माउंट किलिमंजारो जैसे ही कुछ दुरी पर नजर आ रहा था वही से मुनमुन को वापस आना पडा। इस चढाई की आप बीती मुनमुन ने सोशल मीडियापर शेअर कि है। आप बीती बताते हुए मुनमुन ने कहा के, दोन दिन मे ही हम चढाई के दुसरे हिस्सें पर पहुच गये थे। किलिमंजारो आखो के कही दुरी पर दिखाई दे रहा था। पर क्लॉस्ट्रोबिया और पॅनिक अटॅक के कारण माउंट किलिमंजारो के चढाई को आधे रास्ते मे ही छोडना पडा। मुनमुन ने बताया के, जब हमने पहाड कि चढाई करना शुरु किया तब यकीन था के मानसिक और शारीरिक तौर से अपने टीम की सबसे ताकतवर सदस्य हुं, और समय से पहले ही इस पहाड पर चढ जाऊगी इसका मुझे विश्वास है। पर हर चीजें हमारे हाथ में नही होती, बहुत सी चीजें हैं जिनकी तैयारी हम कभी नही कर सकते। चढाई शुरु करने के दोन दिन बाद ही वापस आना पडा जिसकी वजह क्लॉस्ट्रोबिया है। चढाई करने से पहले मैने क्लॉस्ट्रोबिया के बारें में कभी सोचा भी नही था। पर इस माउंट किलिमंजारो पहाड ने मुझे रात मे क्लॉस्ट्रोबिया के बारें में सोचने पर मजबुर कर दिया। पहाड का अंधेरा काफी डरावना था। इस डरावने अंधेरे ने मुझे इतना डरा दिया था के मेरा दिल जोरजोर से धडकने लगा था। इस घबराहट के वजह से बेहोश भी हो गई थी। सुरज डुबने के बाद का यह अंधेरा काफी खतरनाक था। इतना सब होने के वजह से मुझे चढाई को रोकना पडा। इसी के बाद पहाड की चढाई के बजाए मुनमुन ने अपनी टीम से मदद लेकर नीचे जाने की बात कही। चढाई का इंतजाम करने वाली टीम द्वारा उन्हे तुरंत नीचे ले जाया गया। मुनमुन दत्ता ने अपनी जान बचाने के लिए इस टीम का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया। इसी के साथ मुनमुन ने बताया के इस चढाई के दौरान काफी कुछ सीखने को मिला है। इस बार मेने इस चढाई को पुरा नही कर पाई पर फिर कभी इस चढाई को मै पुरा करुगी इसका मुझे विश्वास है।

मुनमुन अब मुंबई मे अपने घर वापस आ चुकी है और अपने फैंन्स को स्वस्थ होने की जानकारी भी दी है। मुनमुन ने जिम से एक तस्वीर सोशल मीडियापर शेअर करते हुए बताया है की अब वो बिलकुल ठीक है। बता दे की, मुनमुन दत्ता ने अपने एक्टिंग के करियर की शुरुवात साल २००४ में सीरियल हम सब बारीती से की थी। इसी के बाद मुनमुन को साल २००५ में आई फिल्म मुंबई एक्सप्रेस में नजर आई। उसके बाद मुनमुन को २००६ में आई फिल्म हॉलीडे में भी काम करने का मौका मिला। अब साल २००८ से लेकर लगातार मुनमुन तारक मेहता का उल्टा चश्मा में बबीता जी का किरदार निभा रही है और इस सीरियल के जरीए घर-घर में पहचानी जा रही है।

Scroll to top